अंक दो व उनका चरित्र कैसा होता है

आपका व्यक्तित्व भव्य है नेतृत्व शीलता आपकी सबसे बड़ी विशेषता है । जीवन में चाहे कितनी ही बाधाए आ जाए आप सहेज़ ही विचलित नहीं होते अपितु अपने जीवन पथ पर बराबर आगे बढ़ते रहते है दूसरे लोगों पर आपका प्रभुत्व रहता है तथा आपके अधीनस्थ कर्मचारी आपके कठोर परिश्रम की सराहना करने के साथ साथ आपके प्रशासन से मन ही मन भयभीत भी रहते है ।

व्यक्ति के प्रधान लक्षण ।

आपका व्यक्तित्व उस बादाम के समान है जो ऊपर से अत्यंत कठोर होते हुए भी अंदर से अत्यंत नरम मृदु है।

आपका परिचय क्षेत्र जितना भी है उन सबके लिए आप बराबर प्रयत्न करते रहते है । और उन्हें ऊचा उठाने के लिए हर संभव सहायता करते रहते है ।

कठोर परिश्रम लक्ष्य की तरफ निरंतर गतिशील रहना और सभी लोगो से मधुर व्यवहार बनाए रखना आपके व्यक्तित्व की प्रधान विशेषता कहीं जा सकती है ।

आपका सक्रिय जीवन :-

आपका जीवन जरूरत से ज्यादा व्यस्त एवम सक्रिय रहता है । इसका कारण यह है कि आपका परिचय क्षेत्र अत्यंत विस्तृत तथा उच्च स्तरीय होता है ।

फलस्वरूप आप प्रत्येक के लिए कार्य करते है और इस वजह से आप ज्यादा व्यस्त रहते है । हकीकत में देखा जाए तो आपके हृदय में स्नेह और प्रेम का समुद्र लहरा रहा है । उपर से आप चाहे कितनी ही कठोरता दिखाए पर मन से आप किसी का भी अहित नहीं करते ।

मानसिक संतुलन :-

यद्धपि आपका जीवन जरूरत से ज्यादा संघर्ष पूर्ण है परन्तु फिर भी आप में आत्मविश्वास की कमी नहीं है मुसीबतों को चुनौती देने कि आपमें सामर्थ्य है तथा कठिनाइयों में भी हसकर आगे बढ़ने की योग्यता आप में है । आप निरंतर अपने कार्य में लगे रहते है और जो एक बार निर्णय लेते है उस पर अटल रहते है ।

कार्य पद्धति :-

आपके जीवन में कई कार्य जो आपके व्यक्तित्व के कारण ही संपन्न हो जाते है प्रसनमुख तथा आकर्षक व्यक्तित्व के धनी होते है इस कारण कई बार आपके कई बार कार्य आपके परिचित या मित्र कर देते है आपमें तुरंत निर्णय कर लेने की भी क्षमता है और यह गुण आपको आगे बढ़ने में विशेष सहायक है । स्पष्ट तथा दो टूक बात कहने में आप ज्यादा विश्वास करते है परन्तु विश्वास करते है परन्तु इससे कई बार दूसरे लोग बुरा भी मान जाते है।

सहयोग व जनसंपर्क :-

किसी भी कार्य की जड़ तक पहुंचकर तथा उसकी कार्य पद्धति को समझकर उसके अनुरूप नीति निर्धारित करना आपका स्वभाव है । वातावरण व परिस्थितियों के अनुसार आप अपने आप को ढाल लेते है । आप मानव विज्ञान के अच्छे ज्ञाता होते है ।

जीवन रहस्य :-

आपके जीवन का मूल रहस्य इस बात में है कि आप बाधाओं मुसीबतों तथा कठिनाइयों में भी मुस्कुराते रहते है प्रत्येक बांधा आपके संकल्प को और ज्यादा मजबूत करती है । कठिनाइयों से आप ज्यादा हताश नहीं होते है । अपितु दुने जोश से उस कार्य में जूट जाते है और जब तक वह कार्य संपन्न नहीं होता है तब तक आप विश्राम नहीं करते है यही आपके जीवन का रहस्य है ।

जन्मजात प्रवत्ति :-

नेतृत्व करने की प्रवत्ति आप में जन्मजात है और जीवन में यही गुण आपको सफलता के सबसे ऊंचे शिखर पर रखता है कभी कभी आप में निर्कुष्ता आ जाती है । आपको चाहिए कि आप दूसरों की बात को भी सुने और उसके बाद है निर्णय ले समय समय पर स्वय की आलोचना करना भी श्रेष्ठ गुण कहा जाता है।

आपका आदर्श वाक्य :

जीवन में आप जितने परिवर्तन देखे है । उतने बहुत ही कम लोग देख पाते है आप साहस से काम ले और इसी प्रकार निरंतर आगे बढ़ते रहे और निश्चय ही आप समाज में अपने आपको अग्रणीय स्थान पर स्थापित कर सकेंगे ।