Homeदेसी दवाई

संसाधन के अभाव में काढ़ा कैसे बनाए जाने बस दो सामान की पड़ेगी जरूरत

Table of content गिलोय का काढ़ा कैसे बनाए ? गिलोय में क्या मिलाएं ? काढ़ा फूल डिटेल हिंदी ? पपीते के पत्ते कैसे मिलाएं ? अगर आप द

आंवले का मुरब्बा में सफेद हो गया है क्या कारण है?
तुलसी करे निरोगी
गर्भवती महिलाओं के लिए पर दादी के नुस्खे

Table of content

गिलोय का काढ़ा कैसे बनाए ?

गिलोय में क्या मिलाएं ?

काढ़ा फूल डिटेल हिंदी ?

पपीते के पत्ते कैसे मिलाएं ?

अगर आप दूर देश या अकेले किसी गाव में रहते है आपके पास संसाधनों की कमी है तो बस आपको आज मैं 2 चीज़े बताने जा रहा हूं जिससे आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी आप निरोगी रहेंगे आपका बुखार भी उतरेगा ।

सबसे पहले गिलोय बेल को ले गिलोय बेल आपको आपके गांव या पास के नदी नहर खेत या जंगल में मिल जाएगी ।

गिलोय की बेल को काट कर छोटा करके ।

फिर आपको पपीते के पत्ते लाने है पपीते का पेड़ भी धुड़ने से आसानी से मिल जाता है ।

एक पतिला ले उसमे पपीते के पत्ते के छोटे छोटे टुकड़े करके डाल दे और साथ मे गिलोय की बेल को भी डाल दे ।

फिर आप जितना काढ़ा बनाना चाहते है उतना उसमे पानी डाल दे अपनी आवश्यकता के अनुशार ।

इसमें आप तुलसी के पत्ते भी मिला सकते है या अलग पानी में मिलाकर पकाकर पी सकते है ।

अब गिलोय और पपीते के पत्तो को पकने दें पतीले को आंच पर चढ़ा दे और जब मिश्रण अच्छी तरह पक जाए तो काढ़े को छान कर एक बोतल में भर ले ।

दिन में दो या 3 बार कप साइज में ले आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाएगी ।

ये सबसे सरल उपाय है इस विधि को आप बुखार आने पर भी उपयोग में ला सकते है ।

ये मै आपको इसलिए बता रहा हूं ये खुद उपयोग किया हुए है मैने सभी स्वस्थ रहे मस्त रहे ।

योग करे अनुलोम विलोम करे फेफड़ों में पूरी तरह आक्सीजन का संचार होगा ।

किसी भी रोग महामारी से बचा जा सकता है हर दिन एक जैसा नहीं होता है सकारात्मक सोच रखे । उचित लाभ होगा । मन को शांत रखे ।

COMMENTS

WORDPRESS: 1
DISQUS:
%d bloggers like this: