Site icon GoFuFa

A beautiful life

जीवन एक भागदौड़ भरी यात्रा है। जिसमे आपको देखना पड़ता है कुछ काम करना पड़ता है अपने आप को पहचाना पड़ता है । काम अगर रुचि का हो तो मन मारकर नहीं करना पड़ता है । मन लगता है तो जोश से भरपूर तरक्की होती है । सर्वप्रथम खुद को पहचाने जाने खुद को तरासे तब ही आप अपनी योग्यता को पहचान पाएंगे । वास्तव में सबसे बड़ी चीज ये है के आप खुद को कैसे देखते है । क्या चाहते है खुद से। तब ही आप एक निष्कर्ष पर पहुंच पाएंगे । हर व्यक्ति में कुछ ना कुछ योग्यता होती है । कुछ लोगों को जीवन में संतोष नहीं मिलता है । अगर हम अपने जीवन को बांटे तो इसके कई भाग हो सकते है । 1. छात्र जीवन 2. पारिवारिक जीवन3. ऑफिस का जीवन 4. जिम्मेदारियां5. बुढ़ापा/रिटायरमेंट

1. छात्र जीवन :- जब आप छात्र जीवन में होते है तो आपको अपनी योग्यता पर ध्यान देना चाहिए ना की अच्छे रिजल्ट को तरफ भागे मेरा कहना ये है अपने अंदर स्किल लाए तब ही आप कुछ कर पाएंगे। खाली डिग्री से कुछ नहीं होता है ।इसके उलट काम आना भी चाहिए ।अगर आप कला या विज्ञान का विषय चुनना चाहते है। तो किसी के कहने सा किसी की इच्छा अनुसार ना पढ़ाई के विषय चुने खुद के इच्छा अनुसार विषय का चुनाव करें ।और सोचे समझे आप किस विषय में पढ़ाई करना चाहते है। और क्या बनना या करना चाहते है।अपने लक्ष्य निर्धारित करे उसकी और अग्रसर निरंतर प्रयासरत रहे।2.पारिवारिक जीवन:- सभी भाई बंधुओ माता पिता पत्नी बच्चो को उचित समय दे रिस्तेदारो से मैत्री पूर्ण व्यवहार रखें। सभी को साथ ले कर चले। कोशिश करे अहंकार वश ना कुछ ग़लत करे।3. आफिस जीवन:- सही नौकरी का चुनाव करें।हमेशा कुछ ना कुछ करते रहे। आफिस का दबाव घर ना लाए। अपनी एक अच्छी इमेज बना कर रखे । चाहे सरकारी गैर सरकारी नौकरी करे ।अपना एक अच्छा रुतबा अपने काम में दिखाए काम में हमेशा इमानदार रहे।4.जिम्मेदारियां:- अपनी सारी जिम्मेदारियां लिख कर रखे। वक़्त पर सबको पूरा करे। बच्चो की शादी बच्चो की पढ़ाई । बचत हर विषय पर ध्यान दे। अपना एक उचित गोल स्वीकार करके निर्धारण करे तब ही उचित लाभ होगा।5. बुढ़ापा/रिटायरमेंट:- अगर आप रिटायर होने के बाद क्या जीवन में करना है कैसे आगे उसको संभालना है उसके बारे में पहले ही सोच कर उचित निर्णय ले। डरने की जरूरत नहीं होती है बस सोच कर विचार कर लाभ के अनुरूप ही जीवन के लक्ष्य को निर्धारित करे।

Exit mobile version