Give goal to your mind

आज के जमाने में ऐसा कौन सौभाग्यशाली होगा जो परेशान न हो क्या अमीर क्या गरीब सभी परेशान हैं अमीरों का हाल है उसे महलों में बड़ी शान से रहने वाला यह जरूरी तो नहीं आराम से सोता होगा तो गरीब बेचारा भी यह कहने पर विवश है कि कर्म ही करना है मुझ पर तो यह करम कर दे मेरे खुदा तू मेरी ख्वाहिश ख्वाहिश हो को कम कर दें

परंतु यह वास्तविकता है कि मनुष्य को अधिकतर परेशानियां निराधार होती हैं तथा जो परेशानियां निराधार नहीं होती वह पशु तथा हासिल अनिवार्य होंगी इसलिए परेशान हो-ना छोड़िए परेशान रहना खराब है

लेकिन परेशानियों के परिणाम अति विनाशकारी होते हैं प्रसिद्ध दार्शनिक डेलकार गनी ने लिखा था यदि आपको जीवन से प्रेम है यदि आप अधिक से अधिक समय तक जीवित रहना चाहते हैं तो अपने को परेशानियों से दूर रखिए चिंता एवं परेशानियों से रक्त का दबाव बढ़ जाता है चिंताएं गठिया रोग का सबब बन सकती हैं अपने अमासे की खातिर चिंताओं को कम कीजिए

चिंताओं से ग्रंथियों के रोग होते हैं चिंता और परेशानियों से मधुमेह हो जाने की संभावना होती है पागलपन के शब्द क्या है कोई भी सारे कारण नहीं है जानने का दावा नहीं कर सकता परंतु अक्सर हालात में बेहतर तथा विचार सहायक सुबह होते हैं निराश परेशान तथा चिंतित व्यक्ति स्वास्तिक दुनिया से मुकाबला कर पाने में असमर्थ होता है

वह अपने वातावरण तथा आसपास के साथ स्वयं को सम्मान नहीं कर सकता वह पलायन करके अपनी काल्पनिक दुनिया में तलाश है डॉक्टर ने लिखा था जो व्यक्ति का चिकित्सा विज्ञानियों के पास आते हैं उनमें से 70% अपना उपचार स्वयं कर सकते हैं यदि वे अपने परेशानियों से मुक्ति प्राप्त कर सके आप यह जानने के लिए व्याकुल होंगे की परेशानियों से कैसे मुक्ति पाई जा सकती है

हावर्ड विश्वविद्यालय के प्रोफेसर डॉक्टर ने लिखा था यदि आप और मैं परेशान हो तो हम काम को बतौर दवा दवा प्रयोग कर सकते हैं एक अन्नदाता यदि आप और मैं बेकार बैठे उस जनों का ताना-बाना बुनते रहते हैं तो हम चार्ल्स डार्विन के बयानों के रेट पैदा करने के अतिरिक्त कुछ नहीं कर सकेंगे और यह संदेह में खोखला कर देंगे और हमारी कार्य शक्ति तथा संकल्प शक्ति को नष्ट कर देंगे डेल कारगिल ने लिखा था अपने को कार्य में व्यस्त रखिए कार्य में व्यस्त हो जाएगी आपका रक्षा करने लगेगा आपका मस्तिक गतिशील हो जाएगा

आपके शरीर के अंदर जीवन की नई लहरें उत्पन्न होंगी ठीक है और यह आपके मस्तिष्क को परेशानियों से निकाल देंगे लगे रहिए मस्त रहिए परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए सस्ती दवा है और बेहद लाभदायक है पर मैंने लिखा था कि मनुष्य के स्वास्थ्य रोग रहस्य स्वस्थ तथा अस्वस्थ विचारों में निहित है स्थिति का सब गलत विचार है

स्वास्थ्य स्वास्थ्य था वह प्रसंता का यही है जब आप इस रहस्य को जान जाएंगे तो आपको वास्तविक रहस्य का ज्ञात हो जाएगा जब आप बुरे वातावरण में भी रहकर अच्छा जीवन व्यतीत कर सकते हैं तो आप बहुत सुप्रीत परिस्थितियों में रहकर भी आनंद पूर्वक जीवन की सुगंध बिखेर सकते हैं और बेहतरीन सोच है बुराई को निकाल बाहर कीजिए

अपने हृदय तथा मस्तिष्क की नेगी पवित्र विचारों तथा सच्चाई से इतना पर रखिए कि बुराई तथा बुरे विचारों को वहां के लोगों ने का स्थान ही ना मिले जब ऐसा हो जाएगा तो आप बीमार नहीं होंगे आपका स्वास्थ्य दिन प्रतिदिन बनेगा यही नहीं आप समय से पूर्व बूढ़े ना होंगे आपका यवन बना रहेगा आपके चेहरे से आपकी आत्मा प्रतिबिंबित होती है जब हम अपने विचारों को बदल डालते हैं

तो हमारा शरीर भी बदल जाता है रो के परिवर्तन से आदतें भी परिवर्तन हो जाती हैं मानसिक संतुलन से मानसिक शांति उत्पन्न होती है तथा मानसिक शांति से आयु बढ़ती है यह एक अति स्वास्थ्य वर्धक योग है परंतु कितना सस्ता सफलता प्रदायक योग ऋषि संसार में इन हालात में कितने लोग खुश हैं कितने असफल है वह कितने नामुराद हैं

भी इसका कारण जानना चाहते होंगे और यकीन जाना चाहते होंगे क्या दार्शनिक तक लेटर में लिखा है जीवन के प्रत्येक विभाग में असफल व्यक्ति हैं जो कोई निर्णय करने से मैं देर तथा पैसों पर या हिचकिचाहट से काम लेते हैं क्योंकि उन्हें सदैव गलती का भय लगा रहता है क्या पैसे किसी काम के लिंकन की कल्पना करते हैं जो निर्णय शक्ति से वंचित रह अमेरिका के राष्ट्रपति रहे थे मैं करूंगा मैं राष्ट्रपति बनूंगा अपने इसी संकल्प के कारण वो इतने ऊंचे पद पर पहुंचे थे ।